Bihar News: आखिर किसका पिंडदान करने बिहार के गया पहुंचे बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त

मुंबई, भारत24 डिजिटल डेस्क: बॉलीवुड के जाने-माने एक्टर संजय दत्त ने गुरुवार को बिहार के गया में पितरों का पिंडदान किया है. मिली जानकारी के अनुसार, गया के विष्णुपद मंदिर में एक्टर संजय दत्त ने अपने पिता सुनील दत्त और मां नरगिस दत्त की आत्मा की शांति के लिए पिंडदान और तर्पण किया. संजय दत्त विशेष चार्टर्ड विमान से बिहार के गया में पितरों का पिंडदान करने पहुंचे. उनके साथ उनकी सुरक्षा और सिक्युरिटी के लिए

दो लोग भी आए. संजय दत्त के पिता सुनील दत्त भी गया गए थे और सुनील दत्त ने भी यहां अपने पितरों का पिंडदान किया था. यहां पर बता दें कि संजय दत्त के पिता सुनील दत्त का निधन 25 मई, 2005 को हुआ था और मां नरगिस दत्त का निधन 3 मई, 1981 को हुआ था.

संजय के आने से पहले ही की जा चुकी थी तैयारियां

रिपोर्ट के मुताबिक, नामचीन स्टार संजय दत्त गुरुवार की दोपहर करीब 3 बजे गया के विष्णुपद मंदिर पहुंचे. वहां करीब ढाई बजे संजय दत्त गया के एयरपोर्ट पर चार्टर्ड प्लेन से उतरे. इसके बाद उन्होंने अपने पिता सुनील दत्त के मोक्ष की कामना की. इसके अलावा सुनील दत्त और नरगिस दत्त की मोक्ष की कामना की. पिंडदान की तैयारी संजय दत्त के एयरपोर्ट से आने से पहले ही विष्णुपद पर हो गई थी.

पिंडदान की क्यों किया जाता है

गरुड पुराण के अनुसार, बिहार के गया में पिंडदान की शुरुआत भगवान श्रीराम ने की थी. यह भी कहा जाता था कि भगवान राम और लक्ष्मण ने सीता के साथ गया ही आकर पिता दशरथ का पिंडदान किया था. हिंदू मान्यता के अनुसार, यह भी गया कि यदि इस स्थान पर पितृ पक्ष में पिंडदान किया जाए तो पितरों को स्वर्ग की प्राप्ति होती है.

Leave a Comment