Pathaan Bhagwa Bikini controversy: ShahRukh Khan और Deepika Padukone ने लोगों को आहत किया

डायलॉग बोल देता हूं कोई मैं आपके सामने

अपनी कुर्सी की पेटी बंद लीजिए

मौसम बिगड़ना वाला है

की धर्म को हाथ नहीं पहुंचता है हमारे लिए

भगवा हमारे दिल में बस्ता है भगवान के लिए

जान गाव सकते हैं जाके मेहराणा प्रताप को

देखिए इस भगवे से ये जिनको ये सारे को

भगाया था भारत से

क्यों नहीं पता हम

ए जाएंगे इनका कहना लड़कियों को टारगेट

किया जाता है

दीपिका ने बिकिनी को फैंसी दीपिका की बॉडी

है मुस्कान की बॉडी है

इच्छा की बात कर रही है इच्छा की भैया के

लिमिट भारत सरकार

आइटम सॉन्ग

देख लीजिए नहीं आता है तो मेरी जो भाषा

में वही बोलूंगी मैं अंग्रेजी भाषा क्या

आपकी आप सबसे पहले बात आपने की है

स्वतंत्र की बात संविधान में भी

स्वतंत्रता का एक लिमिट बताया गया

स्वतंत्रता के नाम पे और हवा अमेरिकन कलर

को यहां पे पाठक दे हम अपने सभ्यता और

संस्कृति को और संस्कार को भूल जाए आप

समाज की फैलाने का कम कर रही है तो यह

किसी भी तरीके से स्वीकार नहीं होगा

इन खबर के साथ जुड़ चुके हैं आप और मैं

हूं आपके साथ स्वामी ठाकुर पठान फल जो

फिल्म अभी तक रिलीज भी नहीं हुई है लेकिन

फिल्म जो है विवादों में पुरी तरह से गिर

चुकी है बताना चाहेंगे की दीपिका पादुकोण

और शाहरुख खान की फिल्म को लेकर कई जगह पर

पोस्ट भी चला गए हैं और बड़ी बात ये है की

फिल्म का जो गाना है बेशर्म रैंक जिसमें

दीपिका पादुकोण ने भगाए रंग की बिकिनी

पहनी हुई है सवाल उसे पर कई सारे उठ रहे

हैं इस फिल्म में जहां पर दीपिका पादुकोण

भगवान रंग की बिकिनी पहनी है उसको लेकर

हिंदू संगठन कई सारे सवाल उठा रहे हैं

उनका कहना है की उनकी आस्थाओं को इस दौरान

थिस पहुंची है और फिल्म को लगातार बन करने

की मांग रही है फिल्म की जो निर्देशन उनके

खिलाफ कड़ी से कड़ी करवाई करने की मांग की

जा रही है इस फिल्म पर इस भगवान रंग गाने

पर और दीपिका पादुकोण की बिकिनी पर बात

करने के लिए हमारे साथ बहुत सारे युवा

जुड़ चुके हैं जींस हम बात करेंगे की आखिर

उनका क्या कहना है उनका क्या ओपिनियन है

फिल्म में जो बिकिनी को लेकर लगातार विवाद

उठे उसे पर जी सबसे पहले आपसे पूछना

चाहेंगे क्या लगता है आपको की फिल्म जो

दीपिका पादुकोण नहीं पहनी हुई है इस पर

लगातार सवाल उठ रहे हैं की हिंदू संगठनों

का कहना है की उनके

समाज को थिस पहुंची है भगवा रंग पहने से

क्या कहेंगे पहले बात तो मैं ये बोलना

चाहती हूं किसी भी कलाकार की कलाकार ही पर

आप किसी भी चीज से धर्म को ना जोड़ें यहां

पे हर कोई भी मुद्दा है की कोई भी मतलब

रंग आप एक भगवा रंग कोई क्यों ले रहे हो

अगर वो लाल रंग पहनती है तो ऐसे दुर्गा

माता का अपमान होता है अगर वो कल रंग

पहनती है तो उसे काली मां का अपमान होता

है हिंदू धर्म से तो हर रंग जुड़ा हुआ है

तो अब एक रंग को ही क्यों धर्म से जोड़

रहे हो वो इनका कहना है की हिंदू रंग से

हर हिंदू धर्म से हर रंग जुड़ा हुआ है आप

क्या कहेंगे देखिए ये गलत है

वही तो बोल रही हूं की सवाल इस सवाल इस

वक्त ये है की भगाबे रंग पर लगातार सुनिए

सवाल सुनिए सुनिए सवाल ये है की सवाल ये

है सुनिए सवाल ये है की भगवान रंग पर

लगातार सवाल उठ रहे हैं हिंदू आस्था को के

साथ छेड़छाड़ हिंदू आस्था को इस दौरान कहा

है की थिस पहुंचाएगी है सवाल ये है दीपिका

पादुकोण पर की क्या सच में हिंदू समाज को

इसे थिस पहुंची है जो उनके द्वारा भगाए

रंग की बिकिनी पहनी हुई है पहले इसका जवाब

दे आगे बात जी बिल्कुल आस्था आस्था होती

है पूरा हिंदुस्तान आप देख लीजिए ज्यादातर

लोग हिंदू धर्म को मानते हैं सबकी आज तक

जुड़ी हुई है भगवान रंग से भगवा रंग भगवान

श्री रामचंद्र का रंग है तो ऐसे में आप

बेशर्म रंग का गाना बनाकर और उसे पे भगवा

रंग की बिकिनी पहनकर अश्लीलता फैलाकर क्या

दिखाना छह रहे हैं जाहिर सी बात है भावना

आहट होगी ही होगी और आप बॉलीवुड का इतिहास

देख लीजिए ओ मी गॉड जैसी फिल्में बनी पीके

जैसी फिल्में बनी क्या वहां पर हिंदू को

टारगेट नहीं किया गया क्या जरूर है उन

चीजों को हाईलाइट करने की की आप दूध मत

चढ़ाइए आस्था ऑन पे सवाल क्यों हमें जो

अच्छा लगेगा हम करेंगे हमें हमारा

एक सवाल एक सवाल और बंता है की आपने कहा

की फिल्मों के जारी कहानी ना कहानी हिंदू

आस्थाओं को थिस पहुंचाई जा रही है आप कुछ

कहना चाहते हैं

आपने गाना सुना क्या उसमें सिर्फ भगवा कलर

के कपड़े बिकिनी पहनी है दीपिका ने तो

आपने इसी कलर को क्यों टारगेट किया

तो

जोड़ा था की धर्म देखिए आप इस गाने को

देखिए आप इस शाहरुख खान अगर दीपिका ने

भगवा कलर की बिकनी नहीं पहनी होती तो आप

किसी और बात पे उन्हें टांग टारगेट करती

हूं बोल लिए नहीं करती

फिल्में नहीं थे

खाना तो आप नहीं नहीं एक बात पूछेंगे आपसे

रामनवमी अच्छी है कभी जिंदगी में कौन से

रंग से मनाया जाता है अरे सुनिएगा बात

कंप्लीट करने दीजिए कौन सा रंग उसे होता

है रामनवमी में

जवाब तो आपने

सवाल आपसे सुनिए सवाल आपसे यह भी पूछेंगे

की इसमें यह भी सवाल ए रहा है की शाहरुख

खान ने भी हरे रंग की इसमें शर्ट पहनी हुई

है तो सवाल यह भी ए रहा है की शाहरुख खान

ने भी इसमें हरे रंग की शर्ट पहनी हुई है

तो उसे पर क्या कहेंगे

जो भगाबे कलर की जो बिकिनी पहनी गई है वह

काफी आपत्तिजनक एक तो तस्वीर और चित्र

दृश्य दिखाएं गए हैं जो शाहरुख खान ने हरे

कलर की शर्ट पहनी है उसमें कोई आपत्तिजनक

ऐसा कोई सीन नहीं है की जिसका उसे पे

विरोध किया जाए या कुछ किया जाए पर आप

भगवा रंग की जो उन्होंने बिकिनी पहनी है

आप वो खुद देख शक्ति हैं अपने परिवार के

साथ मैं इन लड़कियों के साथ पूछ रहा हूं

की ये अपने परिवार के साथ वो चीज देख

शक्ति हैं और दूसरे बात यह है की वो रंग

ना ये लोग बोल रहे हैं की धर्म को हाथ

नहीं पहुंचता है हमारे लिए भगवा हमारे दिल

में बस्ता है भगवान के लिए जान गाव सकते

हैं जाके मेहराणा प्रताप को देखिए इस भाग

से ये जिनको ये सारे को भगाया था भारत से

वो भगवा रंग हमारे लिए एक इमोशन है प्यार

है और दिल में है भगवान से कोई खिलवाड़

नहीं होने देंगे इनका तो कहना है की भगवा

रंग से खिलवाड़ नहीं होने देंगे आपसे एक

सवाल पूछेंगे एक और सवाल सामने ए रहा है

की जब फिल्म रिलीज होने वाली है उसे वक्त

शाहरुख खान जो है वो माता के मंदिर चले गए

और दूसरी तरफ सवाल उठ रहे हैं की भगवा रंग

से हिंदू धर्म को आहट पहुंची है इस पर आप

क्या कहेंगे

बिल्कुल सही बात है भगवा रंग से जो है आहट

पहुंचेगी ही पहुंचेगी क्योंकि हिंदू धर्म

का आस्था जुड़ा हुआ है भगवा रंग से भगवान

राम हो या फिर सनातन धर्म में हम

सत्यनारायण भगवान की पूजा करते हैं ऐसा

माना जाता है की कलयुग में भगवान

सत्यनारायण भगवान की कथा हर घर घर में

होती है और कथा होने के बाद भगवा ध्वज ही

फहराया जाता है इन लोगों को पता नहीं छोटी

बच्चियों हैं पता तो होगा नहीं कुछ जो है

लेकिन भगवा ध्वज जो है और भगवा रंग हमारे

हिंदू संस्कृति और आस्था से जुड़ा हुआ है

और उसके बाद आप गाना बना देते हो बेशर्म

रंग

आप सोचिए किस तरीके से टारगेट किया जाता

है दूसरा आपने सवाल किया बड़ा अच्छा सवाल

लगा आपका की शाहरुख खान जो है फिल्म रिलीज

होने वाली है उसे पहले माता के दर्शन आज

तक उनको माता की याद नहीं आई एक यह

प्रोपेगेंडा के तहत है क्योंकि फिलहाल में

बॉलीवुड की साड़ी फिल्में फ्लॉप के तरफ ही

जा रही हैं तो लोग ये सोच रहे हैं की

ऑडियंस को टारगेट कैसे किया जाए मोती रकम

कैसे कमाई जाए और रकम कमाने के लिए आदमी

किसी भी अस्तर तक

अंडा की तरह उसे किया है जो वो माता के

मंदिर गए हैं आप क्या कहेंगे सबसे पहले तो

जो इन महोदय ने बोला छोटी बच्ची यहां है

तो ये छोटी बछिया आपसे ज्यादा मेच्योरिटी

वाली थिंकिंग लगती हैं तो सूची आप कहां पे

हैं और दूसरी बात जो इन्होंने बोला की

प्रोपेगेंडा जो फैलाया जा रहा है जाके तो

मैं ये पूछना चाहूंगी कौन सी ऐसी मूवी

होती है उसके बाद से लोग नहीं जाते हैं आप

जी धर्म को मानते हैं मस्जिद को मानते हैं

ये ऐसा मुस्लिम हिंदू का बात नहीं है बात

है की आप किस पावर को मानते हैं जहां भी

जो जो भी पावर आप मानते हैं मैंने आपको

सुना मैंने आपको सुना आपको मुझे सुना होगा

ठीक है तो पावर जी पावर को आप मानते हैं

वहां पर जाते हैं यह सिर्फ मूवी की बात

नहीं है आप किसी भी कम को करते हो आप किसी

भी कम पे करते हो या फिर आप एक कंपनी खोल

रहे हो आप कहानी एग्जाम देने जा रहे हो

जनता एक्रॉस इसे बात करेंगे

जब देखा की बॉलीवुड की फिल्में बैकोट हो

रही हैं हिंदू कार्ड खेलने पड़ेगा तो चले

गए दर्शन करने भगवान के

जिसमें शाहरुख खान मंदिर में जाते हैं

पूजा करते हैं

आप सर्च करिए आप सर्च करिए आप सर्च करिए

अगर वो इतना ही कतर होते अगर वो इतने ही

कतर होते तो ऐसी मूवीज नहीं करते इतना ही

कटती ऐसी मूवी नहीं करते वो आप नहीं

बताएंगे

आप कतर नहीं है आप कतर नहीं है

जहां संप्रदाय को जहां एक और सवाल एक और

सवाल अरे

उसे पर क्या करें

बहुत संविधान संविधान की बात करें हमारा

जो संविधान है वो हमें फंडामेंटल राइट

देता है की आप जो भी पहनना चाहती हैं जो

भी करना चाहती हैं की आपका खुद का चॉइस है

आपकी बॉडी है आप डिसाइड करेंगे ना की आप

दूसरे डिसाइड करेंगे मिनट

वहीं मैं बोल रही हूं वही मैं बोल रही हूं

वहीं

मैं बोल रही हूं

अरे भाई वही बोल रही थी मुस्कान

है यह ऐसा क्यों नहीं बंता हम इसे

लड़कियों को क्यों टारगेट किया जाएगा इनका

कहना लड़कियों को टारगेट किया जाता है

दीपिका ने बिकिनी को फैंसी दीपिका की बॉडी

है मुस्कान की बॉडी है

मुस्कान बिकनी पाएगी

साइड नहीं करोगे

देखिए और भी एक्ट्रेस के कई साड़ी तस्वीर

सामने आई थी जिम उनके द्वारा भगवा रंग की

बिकिनी पहनी गई थी उसे पर आप क्या कहेंगे

सोफिया अंसारी का अकाउंट ब्लॉक नहीं हो

गया था क्या स्थिति हुआ था आप अच्छी नहीं

सोशल मीडिया देखते नहीं है लगता है सोफिया

अंसारी को अकाउंट को इंस्टाग्राम ने ब्लॉक

कर दिया था पर क्या करेंगे सनी लियोन की

भी एक वीडियो वायरल हो रही है जिसमें उनके

द्वारा भी भगवा रंग की ड्रेस पहने गई है

यही तो दुर्भाग्य है हमारे भारत का की

विदेश में कुछ करके आएंगे यहां पे आके

अपनी मजबूरी बता के एक चोला पहन लेंगे दो

अडॉप्ट बच्चा कर लेंगे अपने आप की छवि बना

लेगी और लोग यहां के जो हैं मुंह से तो

गली निकाल रहा है पर ऑन कैमरा नहीं दे

सकते हैं लोग यहां के हैं इतने बड़े की

मतलब वो इस चीज को एक्सेप्ट कर लेते हैं

इमोशनल कार्ड खेलने वो लोग बहुत अच्छे

तरीके से जानते हैं और बहुत अच्छे तरीके

से वो खेलने भी हैं और हम बनते भी हैं जो

आप समझ रहे हैं वही

मस्जिद गए मंदिर तो वो ये का रहे हैं की

उन्होंने फिल्म के मिनट में बोल दीजिए

देखिए ये लोग का रहे हैं की वो अपने फिल्म

के प्रमोशन के लिए मंदिर गए ठीक है अगर वो

मुझे जान के लिए

डिसाइड करेंगे

की वो मंदिर जा रहे हैं मस्जिद जा रहे हैं

ये कहां उनका कहना है की उनकी कोई जरूर

नहीं है हम करोड़ हिंदू काफी है मंदिर

जान के लिए देखिए शाहरुख खान ने पुरी

फिल्म में आठ के नाम पे जिहाद किया हुआ है

देखिए सब लोग बोलते कलाकार का धर्म नहीं

होता लेकिन कलाकार को एक धर्म को टारगेट

कर लेंगे कहां से जाति मिल जाति है बताइए

आप देखिए भगवा रंग बिकिनी भगवा रंग जो है

ना हरे में लिपटा हुआ है यही गाने का

विश्राम रंग है की कलाकार जो हैं वो धर्म

को जानबूझकर राहत कर रहे हैं आप क्या करें

बड़ा शांति तरीके से वार्ता चल रही है तो

शांति तरीके से ही वार्ता को आगे बढ़ते

हैं लेकिन पीके फिल्म आई वहां पे भगवान

शिवा के ऊपर दूध क्यों चढ़ाया जाता है

इतना दूध नुकसान होता है हम कमाते हैं

हमारी आस्था है

हम क्या करेंगे वह हम डिसाइड करेंगे यहां

यह आजादी की बात करती हैं संविधान इन

लोगों ने ढंग से पढ़ा भी नहीं होगा मैं सब

आजादी की बात है तो कुछ क्राइटेरिया भी तो

है की कोई ये जरूरी है की आजादी के नाम पर

हम किसी धर्म को हाथ पहुंच यही आप देखिए

क्या नहीं हुआ है इससे पहले काली माता को

सिगरेट पीते हुए दिखाए गया उसके बाद जो है

पीके फिल्म आई वो मी गॉड का जिक्र किया

गया कितनी साड़ी फिल्मों का नाम लिया जाए

इतनी साड़ी फिल्में

कोई जानबूझकर टारगेट किया जा सकता है

और आपने एक सवाल किया था सनी लियोन का और

इन्होंने कहा था सेकुलर देश है सेकुलर है

ना तभी उनको देवी मां के और यहां डांस

कराया जा रहा है नहीं तो जो नंगा- कार्य

करती थी वो नॉन मसाला में ही रहती और

दूसरी बात सनी लियोन की आपने जिक्र की तो

राधा राधा जब गाना आया था तो उसका भी

विरोध किया गया था और तीसरी बात यह है की

भैया कितने हद तक कब तक गलत होता रहेगा

गलत पेज जब तक हम रोकने के लिए कुछ ना कुछ

वार नहीं करेंगे तब तक तो ये रुकेगा नहीं

ये प्रचलन आगे बढ़ते ही जाएगा और आने वाली

अगर पीडिया पर क्या असर पड़ेगा इसका आप

खुद सोच शक्ति हैं जब हमारी आने वाली

पीडिया जब ये चीज देखेंगे तो उनके

मानसिकता पर क्या प्रभाव जाएगा

उन्होंने भी आइटम सॉन्ग कर है एक भी आप

तजनिक दृश्य बता दीजिए उनके मूवी के और

साड़ी मूवी उनकी हिट रही है सुपर डुपर हिट

एक्ट्रेस रही है और आज भी है इनकी जहां तक

बात है इनकी बात से मैं समझ का रही हूं की

जैसे हमारे मां-बाप हैं तो हम उन्हें खुश

करने के लिए कुछ ना कुछ करते हैं वैसे ही

अगर हम भगवान हैं उन्हें भी हम अपने

मां-बाप मानते हैं उन्होंने हमें जन्म

दिया है उन्हें मानते हैं तो अगर हम उनके

लिए जल अभिषेक कर रहे हैं तो उसे गलत नहीं

मानना चाहिए लेकिन इस पर भी सवाल उठ रहे

हैं की आखिर फिल्मों में ये क्यों दिखाए

जा रहा है की जो दूध है उसे गरीबों को

मिला दो लेकिन जल अभिषेक ना किया जाए

लेकिन इस पर कई सारे सवालों से इनका कहना

है की हमारे देवता है देवी देवता है हम

उनके लिए कुछ भी कर सकते हैं आप क्या

कहेंगे देखिए मुझे लगता है की ढंग से भी

ऊपर एक चीज होता है वो होते हैं इंसानियत

अगर आपकी देश में बहुत सारे लोग

खुश करने के लिए कोई अपनी इच्छा सुन पे जल

अभिषेक कर रहा है कोई अपनी इच्छा से उन पर

ज्यादा चड्ढा तो इसमें गलत क्या है कुछ

गलत नहीं है मैंने तो इसको कभी पोयम नहीं

किया मैंने तो बोला ही नहीं इसे पूछ लीजिए

मैंने तो बोला ही नहीं जल नहीं चढ़ाना

चाहिए या फिर आप किसी को मानते हो आप आपका

मैंने मैंने फंडामेंटल राइट की बात कर रही

हूं मैं कैसे बोल शक्ति की आप नहीं चुडा

शक्ति हो आप फंडामेंटल राइट है उसमें

हमारी संविधान बोलना है की अगर आप किसी

किसी

मैडम आप बताइए

[प्रशंसा]

पीके फिल्म बनाएंगे

आपसे की मैंने तो बोला ही नहीं है बात और

मैं पीके फिल्म की बात कर रही है मैंने तो

बोला ही लेकिन नहीं चढ़ाना चाहिए या फिर

जो भी करना चाहिए

पीके फिल्म का क्यों

मानसिकता लोग हैं अरे सुना सीखिए

भी एक स्पष्ट एक स्पष्ट होता दे दीजिए

और दीपिका पादुकोण

का उत्तर ले लीजिए और फिर मेरे पास आई

अपनी मेच्योरिटी वाले सवाल नहीं

रुकिए पहले उनका उत्तर ले लीजिए उनका

उत्तर ले लीजिए मेरे एक रोष में हां की हर

हर मूवी होती है हर चीज में वो मूवी दो

पहलू होते हैं दो पहलू होते हैं एक प्लस

एक माइंस मैं ऐसा नहीं बोलती हूं की पीके

में जितनी भी चीज दिखाई गई है फिर किसी भी

मूवी भी जितनी भी चीज दिखाई जाति है वो

सही है या फिर मैं उसका सपोर्ट करती हूं

पीके में बहुत साड़ी चीज हैं जो लोगों को

गलत लगी है मैं मैं मुझे भी बहुत साड़ी

चीज बट मेरा जो भी हुआ पॉइंट है वो आपका

नहीं हो सकता आपका भी नहीं हो सकता मैं भी

मेरा वीवो पॉइंट कुछ अलग है इनका कुछ अलग

है बहुत साड़ी चीज हैं पीके में जिन्हें

मैं सपोर्ट नहीं लेकिन बहुत ऐसी चीज हैं

जिन्हें में सपोर्ट करती हूं तो जब मैं

मुझे उससे कुछ सीखने को मिला है तो मैं

कैसे उसका विरोध कर शक्ति हूं और जो गलत

है उनको गलत बोलूंगी ए गया

अभी रंग की बात हो रही है मुस्कान

की चॉइस है

एक लड़की की आपने घर में बिकिनी पहन लगी

भारतीय संस्कृति

भारतीय

लेकर अपना इज्जत भेज देती है कैमरा के

सामने हेलो के सामने उसके बड़े में आप

देखते हैं

जो हिंदू धर्म का इज्जत नहीं कर रहे

हिंदुओं के उसका इज्जत है अरे क्यों नहीं

धर्म को लेंगे क्यों नहीं धर्म को लेंगे

अभी आप धर्म को नहीं मानती है बिल्कुल

फॉलो करते हैं क्या क्या नहीं करते हैं

हिंदू धर्म फॉलो करके क्या यहां था

बिल्कुल मैं हिंदू हूं मैं हिंदू धर्म

फॉलो करता हूं

कैमरा के सामने इज्जत बीच रही है अपना

नंगा

इच्छा की बात कर रही है

ऐसी बहुत सारे वीडियो हैं जिसमें बहुत

डिटेल दिखती है

यही लड़के होते हैं यही

आते हैं जो वो वीडियो देखते हैं जिसमें

जिसमें ऐसी लड़की कपड़ा पहनती है इसीलिए

इसीलिए आइटम्स सोंग्स डेल जाते हैं मूवी

में

डेल जाते हैं

आइटम्स ऑन करेंगे क्या जी मैं मूवी में कम

नहीं करती क्वेश्चन कैसे कर सकते हैं

व्हाट डी हिल आर यू मुझे कितना अंग्रेजी

नहीं आता है ठीक है ठीक है

आप सबसे पहले बात आपने की है स्वतंत्रता

की बात संविधान में भी स्वतंत्रता का एक

लिमिट बताया गया स्वतंत्रता के नाम पर हम

अमेरिकन कलर को यहां पे पाठक दे हम अपने

सभ्यता और संस्कृति को और संस्कार को भूल

जाए आप समाज की फैलाने का कम कर रही है तो

यह किसी भी तरीके से स्वीकार नहीं होगा यह

के सीधे सीधे एक सीधे सीधे

होने का समय आता है तो लोग देवी माता का

दर्शन करने चाहते हैं वैष्णो देवी पहुंच

जा रहे हैं वही शाहरुख खान जब हिंदू धर्म

पे कोई टिकलित कारी जाति है तो क्यों नहीं

उसका बचाव करते हैं क्यों नहीं बोलने आता

है तो हमारा तो शाहरुख खान चाहते हैं

क्यों नहीं करने आते हैं फिल्म रिलीज जो

है टारगेट करना है

फिल्म को लेकर लगातार बन करने की जा रही

है आप इस फिल्म को बन करने पर कितना

समर्थन करते समर्थन है क्योंकि जब तक लोग

जो है इसके बड़े में सोचेंगे नहीं जानेंगे

नहीं कोई चीज लगातार गलत होती ए रही है जब

तक हम उसका विरोध नहीं करेंगे तो वो

रुकेगा कैसे जब वे उसे करना शुरू किया

है आज तक विरोध नहीं होता था तो चीज चलती

ए रही थी अब आप सोचिए की जी तरीके से ये

लोग प्रोपेगेंडा के तहत हिंदू धर्म को आहट

पहुंच रहे हैं टारगेट कर रहे हैं यानी

वाली पीढ़ी को क्या दिखाना चाहते हैं

हमारी आने वाली पीढ़ी ऐसे ही होगी तो फिर

देश जो है बेड़ा गर्ग है अब देखिए एक

अल्पसंख्यक समाज हमेशा अल्पसंख्यक

अल्पसंख्यक कहा जाता है वो अल्पसंख्यक

समाज ऐसा है जी पे एक बूंद गिर जाए कुछ तो

पूरा बावल हो जाता है लेकिन वही जो

बहुसंख्यक के रूप में आता है हिंदू समाज

उसके धर्म को उसको कैसे टारगेट किया जाए

कैसे ये एकता कपूर आर्ट बालाजी वो अलग-अलग

चरित्र का वो करती है आर्मी को हमारे

डिस्पोज करती है किस तरीके से नॉन तस्वीर

वो करती है उसके बाद से आप जो है फिल्मों

की बात करें तो हर फिल्म में हिंदू धर्म

को टारगेट करना क्या इनकी मानसिकता को

दिखता है

इनका कहना है की हिंदू धर्म को जानबूझकर

टारगेट किया जाता है फिल्म अभी आई भी नहीं

है लेकिन विरोध के घेर में लगातार फिल्म

खिती जा रही है और क्या कुछ इस फिल्म को

लेकर सामने आएगा ये तो आने वाले दोनों में

पता चल ही जाएगा लेकिन इसी तरह की खबरे के

लिए आप जुड़े रहिए खबर के साथ

इनका पर चैनल को सब्सक्राइब

Leave a Comment